Chehron ke liye aaine qurban kiye hain -Rahat Indauri

Rahat Indauri Sahab ka bahot hi umda sher-

चेहरों के लिए आईने क़ुर्बान किये हैं ,,.,
इस शौक में अपने बड़े नुकसान किये हैं ,.,



महफ़िल में मुझे गालियां देकर है बहोत खुश ,
जिस शक्श पे मैंने बड़े बड़े एहसान किये हैं ,.,!!

*********************************************




Cheharon ke liye aaine kurban kiye hain
Is shauk me apne bade nuksan kiye hain

Mehfil me mujhe galiyan dekar hai bahot khush
Jis shaksh pe maine bade bade ehsaan kiye hain

Comments