Like Us on Facebook

Adsense Link

Thursday, 20 November 2014

Best Ghazal- Pas rah kar juda si lagti hai- Basheer Badra

पास रहकर, जुदा सी लगती  है ,
जिंदगी बे, वफा सी लगती है.,.!!!

मै तुम्हारे, बगैर भी जी लूँ ,
ये दुआ बद दुआ, सी लगती है ,.,!!!

नाम उसका, लिखा है आँखों में,
आसुओं की, ख़ता, सी लगती है,.,!!!



वो भी इश, तरफ से गुज़रा है ,
ये ज़मी आसमां, सी लगती है ,.,!!!

प्यार करना, भी जुर्म है शायद ,
आज दुनिया, खफ़ा, सी लगती है ,.,!!!

पास रहकर, जुदा, सी  लगती है ,
जिंदगी बे, वफा सी लगती है .,.,!!!




*********************************************

Paas rah kar juda si lagti hai
Jindagi bewafa si lagti hai

Mai tumhare bagair bhi jee lun
Ye dua , bad dua si lagti hai

Naam uska likha hai aankhon me
Aansuon ki khata si lagti hai

Wo bhi is taraf se gujra hai
Ye jameen aasman si lagti hai

Pyar karna bhi jurm hai sayad
Aaj duniya khafa si lagti hai

Paas rah kar juda si lagti hai
Jindagi bewafa si lagti hai

No comments:

Post a Comment