Like Us on Facebook

Adsense Link

Monday, 10 November 2014

Rui ka gadda bech kar, Maine ek dari khareed li (रुई का गद्दा बेच कर मैंने, इक दरी खरीद ली)



रुई का गद्दा बेच कर मैंने, इक दरी खरीद ली,
ख्वाहिशों को कुछ कम किया मैंने, और ख़ुशी खरीद ली !!

सबने ख़रीदा सोना मैने इक सुई खरीद ली,
सपनो को बुनने जितनी डोरी ख़रीद ली !!



मेरी एक खवाहिश मुझसे ,मेरे दोस्त ने खरीद ली,
फिर उसकी हंसी से मैंने, अपनी कुछ और ख़ुशी खरीद ली !!


इस ज़माने से सौदा कर, एक ज़िन्दगी खरीद ली,
दिनों को बेचा और, शामें खरीद ली !!


शौक-ए-ज़िन्दगी कमतर से और कुछ कम किये,
फ़िर सस्ते में ही "सुकून-ए-ज़िंदगी" खरीद ली,.,!!!


*************************************************




Rui ka gaddda bech kar maine , ek dari khreed li
Khwaishon ko kuchh kam kiya maine aur khushi khareed li

Sabne khreeda sona maine ek sui khareed li
Sapno ko bunne jitni dori khareed li

Meri ek khwaish mujhse , mere dost ne khareed li
Fir uski hansi se maine, apni kuchh ur khushi khareed li

Is jamane se sauda kar , ek jindagi khareed li
Dino ko becha aur shame khareed li

Shauk-e-jindagi kamtar se aur kuchh kam kiye
Fir saste me hi sukoon-e-jindagi khareed li

18 comments:

  1. Behad pasand aaya,janab !aisehi likhate rahe !

    ReplyDelete
  2. Behad pasand aaya,janab !aisehi likhate rahe !

    ReplyDelete
  3. Add my no 9416717675 whatsup no

    ReplyDelete
  4. अब कहाँ जरुरत है
    हाथों मै पत्थर उठाने की
    तोडने वाले तो जुबाँ से
    ही दिल तोड देते है...

    ReplyDelete
  5. Dil Ko kaise bhi Sambhal Lia humne
    Per nigahe Hain ki gustakhiya kiye jati Hain
    Samne ho agar wo to nazre chura leti hai
    Na ho to diddar kiye jati hain

    ReplyDelete
    Replies
    1. Fir intzar kis bat ki hai
      Wo v pas me hi hai mauka mila k
      Fir se pyar kiye jate hai

      Delete
  6. यकीनन परेशान हूँ मैं,
    पर तेरी खामोशियॉं ना समझ सकू इतनी भी नादान नहीं !!#kamal

    ReplyDelete
  7. यकीनन परेशान हूँ मैं,
    पर तेरी खामोशियॉं ना समझ सकू इतनी भी नादान नहीं !!#kamal

    ReplyDelete
  8. एक मैं था जो लफ्ज़ ढूंढ ढूंढ कर थक गया,
    वो ख़रीदे हुए फूल दे कर इज़हार कर गये !!

    ReplyDelete
  9. "तू अचानक मिल गई तो कैसे पहचानुंगा मैं,
    ऐ खुशी.. तू अपनी एक तस्वीर भेज दे....!!!!

    ReplyDelete
  10. उम्र-ए-दराज मांगकर लाए थे "चार दिन",
    दो थप्पड़ खाने में बीत गए,दो स्याही फिकवाने में।
    (#आपका_अपना_केजरीवाल)

    ReplyDelete
  11. बहुत अच्छे

    ReplyDelete
  12. Aa thak Kar kabhi mere pas baith to sahi o humdum

    Khud ko musafir muje deevar samajh lena.

    ReplyDelete